बालाकोट हमले में मारे गए आतंकियों को लेकर कांग्रेस द्वारा सबूत मांगने में कोई बुराई नहीं : अमरेन्द्र

0
139

जालंधर/चंडीगढ़

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने बालाकोट में हुए हवाई हमले को लेकर कांग्रेस के खिलाफ किए जा रहे दुष्प्रचार का जवाब देते हुए कहा है कि बालाकोट हमले को लेकर सबूत मांगने में कोई बुराई नहीं है। अगर कांग्रेस ने नरेन्द्र मोदी सरकार से बालाकोट में किए गए हमले में मारे गए आतंकियों के संबंध में प्रमाण मांगे हैं तो इसे गलत नहीं ठहराया जा सकता है। अगर मोदी सरकार यह दावा कर रही है कि बालाकोट हवाई हमला सफल रहा तो यह हमारे देश व हम सबके लिए गौरव की बात है इसलिए मोदी सरकार को इसके प्रमाण जनता के सामने रखने चाहिएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा व मोदी द्वारा कांग्रेस को राष्ट्रविरोधी कहना उचित नहीं है। कांग्रेस ने विपक्ष की भूमिका निभाते हुए इस आप्रेशन के प्रमाण मांगें हैं। यह पहली बार नहीं जब हमले के प्रमाण मांगे गए हों।

1965 के युद्ध की याद को ताजा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उस समय भी सीमा पार में सेना द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर प्रमाणों की मांग की गई थी। इसी तरह से कारगिल आप्रेशन के समय भी दुश्मन के ठिकानों को ध्वस्त करने की तस्वीरें तत्कालीन केन्द्र सरकार ने जारी की थी।उन्हें इस बात का गर्व है कि हमारे मिग-21 विमान ने पाकिस्तान के एफ.16 विमान को मार गिराया। बालाकोट में भारतीय वायुसेना की सफलता को लेकर मोदी सरकार बार-बार टालमटोल वाला रवैया क्यों अपना रही है। मोदी को यह बात भी ध्यान में रखनी चाहिए कि 1965 व 1971 की जंग कांग्रेस सरकार के समय जीती गई थी। ये जंगें कांग्रेस के समय लड़ी गईं तो अब क्या कांग्रेस को मात्र प्रमाण मांगने पर राष्ट्रविरोधी कहा जा सकता है। भाजपा को विभाजात्मक राजनीति से गुरेज करना चाहिए। इस बीच पूर्व कांग्रेस विधायक सुरिन्द्र सिंह सीबिया ने आज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की उपस्थिति में पुन: कांग्रेस का दामन थाम लिया। सीबिया मालवा क्षेत्र से संबंधित हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here