5.4 C
Munich
Friday, March 1, 2024

तेजस्वी यादव ने विदेश दौरे की इजाजत मांगी, दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में दी याचिका

Must read


Image Source : PTI
तेजस्वी यादव, डिप्टी सीएम, बिहार

नई दिल्ली: बिहार के डिप्टी सीएम और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में याचिका देकर विदेश दौरे की इजाजत मांगी है। कोर्ट ने उनकी अर्जी को मंजूर कर लिया है। तेजस्वी ने  6 से 18 जनवरी, 2024 तक ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की यात्रा की अनुमति मांगी थी।

ईडी ने फिर भेजा समन

इस बीच तेजस्वी यादव को ED ने एक बार फिर समन भेजा है। इस बार ईडी ने लैंड फॉर जॉब मामले में पूछताछ के लिए तेजस्वी को पांच जनवरी को बुलाया है।  शुक्रवार को भी ED ने तेजस्वी को पूछताछ के लिए समन किया था,लेकिन तेजस्वी जांच एजेंसी के सामने पेश नही हुए। जिसके बाद अब ED ने तेजस्वी को नया समन भेजा है। इसी मामले में ED ने लालू यादव को भी समन भेजा है। उन्हें 27 दिसंबर को पूछताछ के लिए समन भेजा गया है। तेजस्वी यादव को लैंड फॉर जॉब मामले में शुक्रवार को ईडी के सामने पेश होना था लेकिन वे पेश नहीं हुए। उन्होंने बृहस्पतिवार को मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा था कि ईडी के समन ‘कुछ नया नहीं’है।

बीजेपी के निर्देशों पर काम कर रही हैं जांच एजेंसियां-तेजस्वी

 उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि केंद्रीय एजेंसियां ​​बीजेपी के निर्देशों के अनुसार काम कर रही है। यादव ने कहा, “समन में कुछ भी नया नहीं है। इन सभी एजेंसियों ईडी, सीबीआई और इनकम टैक्स विभाग ने मुझे पहले भी कई बार बुलाया है और मैं हर बार विधिवत पेश हुआ हूं लेकिन अब ऐसा लगता है कि यह नियमित बात बन गई है।” राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के युवा नेता ज़मीन के बदले नौकरी घोटाले में जांच एजेंसियों की जांच के दायरे में हैं। ईडी ने यादव के अलावा उनके पिता और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद को भी समन जारी किया है। लालू प्रसाद कथित घोटाला होने के समय रेल मंत्री थे। प्रसाद को 27 दिसंबर को पेश होने के लिए कहा गया है। 

मेरी भविष्यवाणी सच हो गई-तेजस्वी

तेजस्वी यादव ने कहा, “मैंने हमेशा कहा है कि यह इन एजेंसियों की गलती नहीं है जिन्हें इतने दबाव में काम करने के लिए मजबूर किया जा रहा है लेकिन मुझे यह बताना होगा कि कुछ समय पहले मैंने जो भविष्यवाणी की थी वह सच हो गई है।” उन्होंने कहा, ”मैंने कहा था कि राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव खत्म होते ही ये एजेंसियां फिर से काम पर लग जाएंगी और बिहार, झारखंड और दिल्ली पर अपना निशाना साधेंगी। आप देख सकते हैं कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ क्या हो रहा है।” 

आम आदमी पार्टी के संस्थापक केजरीवाल प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष बृहस्पतिवार को पूछताछ के लिए एक बार फिर पेश नहीं हुए और आरोप लगाया कि समन राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के इशारे पर जारी किए गए हैं, जो विपक्ष की आवाज दबाना चाहते हैं। केजरीवाल को ईडी ने बृहस्पतिवार को आबकारी नीति से जुड़े धन शोधन मामले में पूछताछ के लिए बुलाया था लेकिन वह बुधवार को 10 दिवसीय विपश्यना ध्यान सत्र के लिए चले गए। (इनपुट-एजेंसी)

 

Latest India News





Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article