2.2 C
Munich
Sunday, March 3, 2024

‘बाल श्रम’ को लेकर खुशबू सुंदर क्यों हुईं ट्रोल, अब मांगी माफी, बोलीं- एहसास है…

Must read


Image Source : FILE PHOTO
बीजेपी नेता खुशबू सुंदर

अभिनेत्री और बीजेपी नेता खुशबू सुंदर एक ट्वीट कर बुरी तरह से ट्रोल हो गई हैं। उन्होंने हाल ही में मुंबई के एक चौराहे से छोटे बच्चे से खरीदे गए फूलों के गुलदस्ते की एक तस्वीर पोस्ट की। इसके साथ उन्होंने लिखा कि जैसे ही उन्होंने उन फूलों को अपनी कार के अंदर रखा तो उन्होंने सोचा कि कैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित किया है। उनकी इस पोस्ट पर ट्रोलर्स ने उन्हें जमकर ट्रोल किया। उन्हें लेकर कहा गया कि खुशबू ने एक आधिकारिक पद पर होने के बावजूद पीएम मोदी की प्रशंसा के साथ बाल श्रम की घटना को छुपाया।

खुशबू सुंदर ने क्या कहा?

बुरी तरह ट्रोल होने के बाद बीजेपी नेता खुशबू सुंदर ने माफी मांगी। उन्होंने कहा कि उन्हें बाल श्रम के पहलू को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए था। ट्रोल्स से भिड़ने के बाद खुशबू ने कहा, “किसी भी बच्चे को अपनी या परिवार की सुरक्षा के लिए सड़कों पर नहीं निकलना चाहिए। कल मुंबई में फूल बेचने वाली बच्ची के बारे में मेरा ट्वीट बहुत ही सकारात्मक संदर्भ में किया गया था, क्योंकि वह इससे अपनी पढ़ाई जारी रख पा रही थी और इसके लिए वह भीख नहीं मांग रही थी। मुझे एहसास है कि यह बाल श्रम के बराबर है। एक बच्चे को बड़े होने की जरूरत है। एक बच्चे को बहुत ही सुरक्षित और खुशहाल माहौल में बड़ा होने की जरूरत है। स्वस्थ मानसिकता और पालन-पोषण के लिए स्कूल में रहें और खेलें। मैं जो खुद एक बच्चे के रूप में संघर्ष, दर्द और कठिनाइयों से गुजरी हूं, उस बच्ची की आंखें आत्मविश्वास और साहस की बात करती थी। मेरा इरादा किसी को ठेस पहुंचाने का नहीं था। गलत मैसेज देने के लिए मैं आपसे माफी मांगती हूं।” 

ट्रोलर्स को दिया जवाब

इससे पहले खुशबू ने ट्रोलर्स को जवाब देते हुए कहा था, “वह जानती थी कि तथाकथित उदारवादी बीजेपी विरोधी मानसिकता वाले तुरंत निष्कर्ष पर पहुंच जाएंगे। जिस बच्ची से मैंने बात की उसने अपना स्कूल पूरा किया और फिर अपनी शिक्षा में मदद करने के लिए फूल बेचती है। मैं एक जिम्मेदार नागरिक और मां हूं और पीएम मोदी जी के अनुयायी के रूप में हम आप में से अन्य लोगों की तुलना में अपनी जिम्मेदारियों को बेहतर समझते हैं। मुझे पूरा यकीन है कि मैं बाल श्रम के लिए आपसे बेहतर काम करती हूं। एक ऐसे व्यक्ति के रूप में जो हमेशा सार्वजनिक सेवा में शामिल रहा है, मैं बेहतर समझती हूं। कृपया सकारात्मक पक्ष पढ़ें और केवल इसलिए निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे, क्योंकि यह शायद आपके लिए मोदी विरोधी होना फैशनेबल है।”

Latest India News





Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article