3.6 C
Munich
Saturday, February 24, 2024

WHO ने कोरोना के नए सब वैरिएंट JN.1 को ‘वैरिएंट ऑफ इंटरेस्ट’ में शामिल किया

Must read


Image Source : PTI
कोविड टेस्ट के लिए सैंपल लेता एक स्वास्थ्यकर्मी

नई दिल्ली: कोरोना के नए सब वैरिएंट JN.1 के संक्रमण ने भारत में भी दस्तक दे दी है। खासतौर से केरल में इसके मामले बढ़ने के बाद केंद्र की ओर से राज्यों को एडवाइजरी भी जारी की गई है। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)ने कोरोना के इस नए सब वैरिएंट को ‘वैरिएंट ऑफ इंटरेस्ट’ में वर्गीकृत किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसके खतरे को लेकर जो नई जानकारी दी है उसके मुताबिक इस सब वैरिएंट से पब्लिक हेल्थ को ज्यादा खतरा नहीं है। 

खतरा कम, मौजूदा वैक्सीन कारगर

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि अब तक जो एविडेंस सामने आए हैं उसके मुताबिक JN.1 के संक्रमण से फिलहाल पब्लिक हेल्थ को कम जोखिम है। JN.1 को पहले इसके मूल वंश BA.2.86 के एक हिस्से के रूप में वर्गीकृत किया गया था। अब जैसे-जैसे सर्दी बढ़ रही है, भारत में इसके फैलने का खतरा बढ़ रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि मौजूदा वैक्सीन JN.1 और कोविड-19 के अन्य वैरिएंट से होनेवाले गंभीर खतरों से जीवन को बचाने में कारगर हैं।

WHO ने जारी की एडवाइजरी

विश्व स्वास्थ्य संगठन लगातार इन मामलों की निगरानी रख रहा है और लोगों के लिए एडवाइजरी भी जारी की है। इस एडवाइजरी में लोगों से यह अपील की गई है कि वे भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें, मास्क का इस्तेमाल करें और जहां तक संभव हो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

देश में कोरोना के 288 नए मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार भारत में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 288 नए मामले सामने आए। एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 1,970 हो गई है। वहीं केरल में मंगलवार कोकोरोना वायरस संक्रमण के 115 नए मामले सामने आए जिससे राज्य में कोविड-19 के कुल उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 1,749 हो गई। 

मास्क पहनने, भीड़भाड़ से बचने की सलाह

राजधानी दिल्ली में डॉक्टरों ने लोगों को मास्क पहनने, भीड़भाड़ से बचने और स्वस्थ आहार लेने की सलाह दी है। क्रिसमस और नए साल के करीब आने के साथ, शहर के कुछ अस्पतालों के डॉक्टरों ने देश में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट JN.1 के पहले मामले का पता चलने का भी हवाला दिया और लोगों से अतिरिक्त सावधानी बरतने को कहा। बता दें कि देश में ‘जेएन. 1’ का पहला मामला आठ दिसंबर को केरल निवासी 79 वर्षीय एक महिला से लिए गए सैंपल में पाया गया था जिसे हल्के लक्षण थे। 

Latest India News





Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article