Wednesday, October 4, 2023
HomeIndia NewsDelhi Newsचीन के खिलाफ जंग में उतरे 3 Idiots के असली हीरो वांगचुक

चीन के खिलाफ जंग में उतरे 3 Idiots के असली हीरो वांगचुक

दिल्ली समाचार : फिल्म थ्री इडियट्स के असली हीरो वांगचुक ने चीन के खिलाफ एक अभियान छेड़ दिया है। रैमन मैग्सेसे अवॉर्ड विजेता और अविष्कार सोनम वांगचुक ने लद्दाख पर चीनी सेना के आक्रामक रुख का जवाब देने के लिए एक वीडियो जारी किया है, जिसमें चीन पर जमकर भड़ास निकाल रहे हैं। इतना ही न​हीं उन्होंने देशवासियों ने चीन में बने सामान का बहिष्कार करने की भी अपील की है।

सोनम वांगचुक वही शख्स हैं, जिनसे प्रेरित होकर फिल्म थ्री इडियट्स बनाई गई थी। उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो जारी करते हुए कहा कि लद्दाख में चीन की हरकतों को देखकर हर टाइम दिल जलता है, चीनी सेना हर साल 10-20 फुट अंदर आती जाती है और हमारी सेना तनाव नहीं बढ़ाने के लिए उसको एक तरह से नजरअंदाज करती जाती है लेकिन अब चीन को उसी की भाषा में जवाब देने का समय है। उन्होंने कहा कि जब सीमा पर तनाव होता है तो जनता यह सोचकर सो जाते हैं रात को कि सैनिक इसका जवाब दे देंगे। लेकिन इस बार सिर्फ सेना ही नहीं बल्कि हम सबको यह जंग लड़नी होगी।

वांगचुक ने अपने संदेश में कहा कि अगर भारत के लोग चीन के समान खरीदने को बंद कर दें तो चीन की आर्थिक रीढ़ टूट जाएगी और वह घबराकर बातचीत के लिए आगे आएगा। एक तरफ हमारे सैनिक उनके खिलाफ लड़ रहे हैं और दूसरी तरफ, हम चीनी हार्डवेयर खरीदते हैं और टिकटॉक जैसे सॉफ़्टवेयर का उपयोग करते हैं, हम उन्हें करोड़ों रुपये का बिजनेस देते है ता‍कि वे हमारे खिलाफ लड़ने के लिए अपने सैनिकों को सौंप सकें। सोनम का यह वीडियो लद्दाख में ही शूट किया गया है जिसके बैकग्राउंड में हिमालय और सिंधु नदी दिखाई दे रहे है।

सोनम देश के 130 करोड़ लोगों से बायकॉट मेड इन चाइना मूवमेंट शुरु करने की अपील करते हुए कहते है कि चीन के सामानों का इतने बड़े पैमाने पर बायकॉट होने से चीन की अर्थव्यवस्था टूट जाए और वहां की जनता गुस्से में आकर ताख्ता पलट कर देगी। उन्होंने आगे कहा कि वह इस मुहिम को शुरु करने के कई साल से सोच रहे थे लेकिन इस बार लद्दाख में चीन की हरकत देखकर उन्होंने इसे एक अभियान के तौर पर शुरु किया। अगर हमारे देश के 130 करोड़ लोग ‘मेड इन चाइना’सामानों का बहिष्कार करते हैं और एक आंदोलन शुरू करते हैंतो इसका दुनिया भर में प्रभाव होगा। यह हमारे स्वयं के उद्योग और हमारे श्रमिकों के लिए भी मददगार होगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments