4.3 C
Munich
Thursday, April 18, 2024

आ रहा दो वेस्टर्न डिस्टरबेंस, इन राज्यों में पूरे हफ्ते आंधी-बारिश के आसार; असम में तूफान से हाहाकार

Must read


IMD Weather Forecast:  मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अपने ताजा रिपोर्ट में कहा है कि इस सप्ताह के आखिर तक देश के कई हिस्सों में आंधी-बारिश का दौर जारी रहेगा। IMD के मुताबिक, दो पश्चिमी विक्षोभ यानी वेस्टर्न डिस्टरबेंसेज के कारण देशभर में मौसमी उथल-पुथल मचा रहेगा। मौसम विभाग के मुताबिक, पहला विक्षोभ 2 अप्रैल की रात आएगा, जबकि दूसरा विक्षोभ 5 अप्रैल को पश्चिमी हिमालयी प्रदेश में आएगा। इसकी वजह से जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़ समेत पूरे पश्चिमोत्तर भारत में सात दिनों तक आंधी और बारिश का दौर रह सकता है।

IMD ने ताजा पूर्वानुमान में कहा है कि बुधवार यानी 3 अप्रैल जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और हिमाचल प्रदेश में आंधी-बारिश के अलावा बिजली गिरने की भी संभावना है। विभाग ने इसका प्रभाव उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश पर भी पड़ने की संभावना जताई और कहा  है कि इन प्रदेशों में भी मौसम करवट ले सकता है।

हालांकि, जम्मू-कश्मीर के ऊंचाई वाले इलाकों में पिछले तीन दिनों से रुक-रुक कर हुई बारिश और हिमपात के बाद सोमवार को मौसम में सुधार हुआ। मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर ने अगले 24 घंटों तक शुष्क मौसम रहने का अनुमान जताया है लेकिन तीन अप्रैल के बाद से सात अप्रैल तक राज्य के अलग-अलग स्थानों पर फिर से बारिश और हिमपात के आसार जताए गए हैं। मौसम विभाग के मुताबिक, उसके बाद 11 अप्रैल तक मौसम शुष्क रहने के आसार हैं।

दूसरी तरफ, पूर्वोत्तर भारत में आए तूफान और बंगाल की खाड़ी से सटे इलाकों में बने चक्रवातीय दबाव के कारण असम में भारी बारिश रिकॉर्ड की गई है। असम के दक्षिण सलमारा-मनकचार जिले में भारी बारिश और तूफान के बीच ब्रह्मपुत्र नदी में एक नौका के पलटने से चार साल के एक बच्चे की मौत हो गई और दो लोग लापता बताए जाते हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को यह जानकारी दी।

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने रविवार को ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया था और अगले पांच दिनों तक असम सहित पूर्वोत्तर के कई राज्यों में ‘‘भारी से बेहद भारी’’ बारिश का पूर्वानुमान जताया था। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ज्ञानेंद्र देव त्रिपाठी ने बताया कि रविवार की शाम राज्य के कई हिस्सों में अचानक आए तूफान के साथ ओलावृष्टि और भारी बारिश हुई, जिससे पेड़ एवं बिजली के खंभे उखड़ गए गए और घरों को भी नुकसान हुआ।

एक विशेष बुलेटिन में, गुवाहाटी में आईएमडी के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र (आरएमसी) ने असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश की खातिर अलर्ट जारी किया है। इसमें कहा गया है कि राज्यों में 30-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाओं के साथ भारी बारिश होने का अनुमान है। अगले चार दिन के लिए इन राज्यों में ‘येलो अलर्ट’ जारी किया है।

‘ऑरेंज अलर्ट’ का मतलब है ‘‘बचाव कार्रवाई के लिए तैयार रहें’’ वहीं ‘येलो अलर्ट’ का मतलब है ‘‘ हर ताजा जानकारी हासिल करें और सतर्क रखें’’। बुलेटिन में कहा गया है कि असम के ऊपर समुद्र तल से 1.5 किमी ऊंचाई पर एक चक्रवाती क्षेत्र बना हुआ है।  इसमें कहा गया, ‘‘उपरोक्त स्थिति के प्रभाव से विभिन्न स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होगी और अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश का अनुमान है।’’

मौसम विभाग के अनुमान में कहा गया है कि अगले कुछ दिनों में मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, विदर्भ, आंध्र प्रदेश और उससे सटे इलाकों में तापमान 40 से 42 डिग्री के स्तर को पार कर सकता है। इस दौरान प्रचंड गर्मी से लोगों की रातों की नींद खराब हो सकती है। अगले 24 घंटों में पश्चिम-उत्तर भारत में तापमान में अधिक बढ़ोत्तरी के संकेत नहीं हैं। IMD के मुताबिक, अगले कुछ दिनों में उत्तरी आंतरिक कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों में लू चलने की संभावना है। इसके अलावा  3 से 5 अप्रैल के बीच रायलसीमा, पूर्वी मध्य प्रदेश और गंगीय पश्चिम बंगाल, विदर्भ और झारखण्ड में लू जैसी स्थिति रह सकती है।



Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article