4.3 C
Munich
Thursday, April 18, 2024

हिमंत बिस्वा सरमा ने क्यों चेताया- अजमल चाहते हैं तो चुनाव से पहले ही कर लें दोबारा शादी, नहीं तो…

Must read


असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने AIUDF चीफ बदरुद्दीन अजमल को लोकसभा चुनाव से पहले ही दूसरी शादी पर विचार करने की सलाह दी है। सरमा ने संकेत दे दिए हैं कि असम में लोकसभा चुनाव के बाद समान नागरिक संहिता यानी UCC लागू किए जाने की तैयारी है। दरअसल, अजमल ने हाल ही में कह दिया था कि वह बूढ़े नहीं हुए हैं और दूसरी शादी तक कर सकते हैं।

क्या था मामला

धुबरी से कांग्रेस के उम्मीदवार रकीबुल हुसैन ने अजमल को ‘बूढ़ा शेर’ कह दिया था। इसपर 70 साल के अजमल ने जवाब दिया था, ‘मैं अभी इतना बूढ़ा नहीं हूं। मैं दोबारा शादी कर सकता हूं।’ अब सरमा ने शनिवार को कह दिया है कि असम में चुनाव के बाद UCC लागू करने पर विचार किया जा रहा है, जिसके बाद एक से ज्यादा पत्नी रखने पर प्रतिबंध लग जाएगा।

एक अन्य कार्यक्रम के दौरान असम के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘UCC चुनाव के बाद जल्द असम में लागू हो जाएगा…। अब तक असम में दोबारा शादी करना गैर कानूनी नहीं है। अगर बुलाया जाता है, तो हम भी उनकी शादी में शामिल होंगे। अब तक मुझे जो जानकारी है कि उनकी एक पत्नी है, लेकिन वह अब दूसरी या तीसरी बीवी भी ला सकते हैं। UCC आने पर असम में बहुविवाह बंद हो जाएगा। सभी तैयारियां कर ली गई हैं।’  

कांग्रेस और AIUDF पर तंज

रविवार को शर्मा ने तंज कसते हुए धुबरी लोकसभा सीट को लेकर कहा कि वह चाहते हैं कि यदि संभव हो तो, कांग्रेस और ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट दोनों के उम्मीदवार जीतें और असम के भविष्य के लिए दिल्ली जाएं। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, ‘मैं रकीबुल हुसैन की जीत की उम्मीद कर रहा हूं। यदि वह दिल्ली जाते हैं, तो हमें काजीरंगा में इतनी बटालियन की जरूरत नहीं है। हम इसमें कटौती करेंगे।’ 

शर्मा का परोक्ष तौर पर इशारा गैंडे के अवैध शिकार में कांग्रेस नेता की कथित संलिप्तता की ओर था। हुसैन असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के कार्यकाल के दौरान वन मंत्री थे और उन पर भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन द्वारा काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में गैंडों के अवैध शिकार का आरोप लगाया गया था। शर्मा ने कहा, ‘यदि (बदरुद्दीन) अजमल दिल्ली जाते हैं, तो हमारी कई मुस्लिम लड़कियों को कम उम्र में शादी नहीं करनी पड़ेगी। वह खुद ऐसी एक लड़की से शादी करना चाह रहे हैं। यदि ऐसा संभव है, तो मैं चाहता हूं कि असम की बेहतरी के लिए वे दोनों जीतें।’ 

एआईयूडीएफ प्रमुख और धुबरी के मौजूदा सांसद बदरुद्दीन अजमल ने कथित तौर पर कहा है कि भाजपा मुसलमानों को भड़काने की कोशिश कर रही है और यदि वह दोबारा शादी करना चाहते हैं, तो कोई उन्हें नहीं रोक सकता क्योंकि उनका धर्म उन्हें ऐसा करने की अनुमति देता है। 

शर्मा ने कहा, ‘मैंने उनके समाज को सुधारने की कोशिश की है। मुस्लिम समुदाय के युवा मुझे बहुत समर्थन दे रहे हैं। उन्होंने मेरी बातों का स्वागत किया है, किसी ने आपत्ति नहीं जतायी है।’ उन्होंने यह भी दावा किया कि विपक्षी कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता इस चुनाव अवधि के दौरान सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल होते रहेंगे। 

शर्मा ने कहा, ‘आपको मुझ पर विश्वास करना होगा, कांग्रेस में कोई नहीं रहेगा। 2026 तक कांग्रेस में एक या दो लोगों को छोड़कर कोई भी हिंदू नहीं रहेगा। और जिस तरह से हम आगे बढ़ रहे हैं 2032 तक अधिकांश मुस्लिम लोग भी कांग्रेस छोड़ देंगे।’ उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता यहां कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन जाएंगे और वहां भाजपा पार्टी की एक शाखा खोलेंगे। शर्मा ने कहा, “हम वहां भाजपा की नगर समिति की तरह भाजपा की एक शाखा खोल सकते हैं। इन दिनों पूरे राज्य में बूथ स्तर के कई कांग्रेस कार्यकर्ता भाजपा में शामिल हो रहे हैं।’

(एजेंसी इनपुट के साथ)



Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article