10 C
Munich
Tuesday, April 16, 2024

संदेशखाली में शाहजहां शेख के ठिकानों पर पहुंची ED: जमीन हथियाने से जुड़े केस में तलाशी; सुरक्षा के लिए सेंट्रल फोर्स भी साथ

Must read


कोलकाता13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

छापा मारने गए अधिकारियों की सुरक्षा के लिए बड़ी तादाद में सेंट्रल फोर्स के जवान भी मौजूद हैं।

प्रवर्तन निदेशालय (ED) की टीम गुरुवार (14 मार्च) को TMC से निकाले गए विधायक शेख शाहजहां के कई ठिकानों पर छापा मार रही है। संदेशखाली के धमाखाली घाट से सटे घरों, दफ्तरों और ईंट-भट्ठों पर तलाशी ले रही है।

ये छापे जमीन हड़पने के मामले में शाहजहां से जुड़े एक नए प्रवर्तन मामले की सूचना रिपोर्ट (ECIR) का हिस्सा हैं। ED की टीम के साथ केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान भी हैं। जो मामले से जुड़े संदिग्धों के घरों की तलाशी ले रहे हैं।

यह छापा शाहजहां की गिरफ्तारी के कुछ दिनों बाद हुआ है। यौन हिंसा और जमीन हड़पने के आरोपी शाहजहां को 29 फरवरी की सुबह पश्चिम बंगाल पुलिस ने उत्तर 24 परगना के मिनाखान में एक घर से गिरफ्तार किया था, जहां वह छिपा हुआ था।

इससे पहले 23 फरवरी को भी ED ने जमीन कब्जाने के इसी मामले में पश्चिम बंगाल में करीब आधा दर्जन जगहों पर छापेमारी की थी।

शाहजहां पर रेप और सेक्शुअल हैरेसमेंट की 17 FIR लिखी गई हैं।

शाहजहां पर रेप और सेक्शुअल हैरेसमेंट की 17 FIR लिखी गई हैं।

आज खत्म हो रही शाहजहां की रिमांड
शेख शाहजहां 14 मार्च तक CBI की हिरासत में था, उसकी रिमांड आज खत्म हो रही है। CBI उसे दोपहर तक कोर्ट में पेश कर सकती है। संदेशखाली में अब तक रेप और सेक्शुअल हैरेसमेंट की 17 FIR लिखी गई हैं। 100 से ज्यादा शिकायतें हैं। शेख शाहजहां के खिलाफ भी तीन FIR हैं। इनमें रेप, सेक्शुअल हैरेसमेंट और जमीन पर कब्जा करने के आरोप हैं।

5 जनवरी को शाहजहां और उसके समर्थकों ने किया था हमला
इसी तरह के एक तलाशी अभियान में 5 जनवरी को ED के अधिकारी उत्तर 24 परगना में शाहजहां और अन्य TMC नेता शंकर आध्या के आवासों पर छापेमारी करने जा रहे थे। तभी उन पर हमला किया गया था। शाहजहां के 200 समर्थकों ने अधिकारियों और अर्धसैनिक बलों को घेर लिया। इन लोगों ने शाहजहां के घर पर छापा मारने से रोक दिया। इस घटना में ED के दो अधिकारी घायल हो गए थे।

हाल ही में कलकत्ता हाईकोर्ट ने CBI और पश्चिम बंगाल पुलिस की SIT को संदेशखली में प्रवर्तन निदेशालय (ED) के अधिकारियों पर हमले की जांच करने का निर्देश दिया है।

ये खबर भी पढ़ें…

PM से न मिल पाने से नाराज संदेशखाली की पीड़ित महिलाएं

संदेशखाली की 9 विक्टिम में से सिर्फ 2 ही प्रधानमंत्री से मिल पाईं। वैसे प्रधानमंत्री से 5 महिलाओं ने मुलाकात की थी, लेकिन उनमें 3 महिलाएं विक्टिम्स की मददगार थीं। सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री से मिलवाने के लिए 9 विक्टिम की लिस्ट बनी थी। हमसे बात करने वाली विक्टिम का नाम भी इस लिस्ट में था। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…



Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article