5.5 C
Munich
Saturday, April 20, 2024

नीति आयोग की महिला कर्मचारी की ब्रिटेन में मौत: साइकिल से घर लौटते वक्त ट्रक ने कुचला, लंदन में PHD कर रही थीं चेसिथा कोचर

Must read

[ad_1]

लंदनकुछ ही क्षण पहले

  • कॉपी लिंक
नीति आयोग के पूर्व CEO अमिताभ कांत ने चेइस्ता कोचर की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर कर मौत की जानकारी दी। - Dainik Bhaskar

नीति आयोग के पूर्व CEO अमिताभ कांत ने चेइस्ता कोचर की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर कर मौत की जानकारी दी।

नीति आयोग की एक महिला कर्मचारी की लंदन में रोड एक्सीडेंट में मौत हो गई। नीति आयोग के पूर्व CEO अमिताभ कांत ने सोशल मीडिया पर 33 साल की चेसिथा कोचर के निधन की खबर शेयर की।

अमिताभ कांत ने लिखा- चेसिथा कोचर लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में PHD कर रही थीं। पिछले हफ्ते वह यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करने के बाद साइकिल से लंदन स्थित अपने घर लौट रही थीं, उसी दौरान एक ट्रक के कुचलने से उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

कोचर को 19 मार्च को एक गारबेज ट्रक ने टक्कर मार दी थी। दुर्घटना के समय उनके पति प्रशांत उनसे आगे थे और उन्हें बचाने के लिए दौड़े। हालांकि एक्सीडेंट इतनी जोरदार दी थी कि चेसिथा को बचाया नहीं जा सका।

चेइस्ता कोचर (ब्लैक-रेड कुर्ता) 2021 से 23 के बीच नीति आयोग में काम कर चुकी हैं।

चेइस्ता कोचर (ब्लैक-रेड कुर्ता) 2021 से 23 के बीच नीति आयोग में काम कर चुकी हैं।

पिछले साल सितंबर में लंदन गईं
चेइस्ता कोचर के लिंक्डइन प्रोफाइल के अनुसार, वे 2021 से 23 के बीच नीति आयोग में नेशनल बिहेवीयर इनसाइट यूनिट में बतौर सीनियर एडवाइजर काम कर रही थी। वे गुरुग्राम में रह रही थीं। पिछले साल सितंबर में ही वे लंदन PHD के लिए गई थीं।

चेइस्ता ने हायर एजुकेशन दिल्ली यूनिवर्सिटी, अशोक यूनिवर्सिटी के अलावा पेंसिल्वेनिया और शिकागो यूनिवर्सिटी से की थी। इसके अलावा उन्होंने अपनी स्कूलिंग दिल्ली और देश के अन्य आर्मी स्कूल से पूरी की थी।

चेइस्ता कोचर पिछले साल सितंबर में लंदन PHD के लिए गई थीं।

चेइस्ता कोचर पिछले साल सितंबर में लंदन PHD के लिए गई थीं।

पिता सेना से रिटायर
चेइस्ता कोचर के पिता लेफ्टिनेंट जनरल एसपी कोचर सेना से रिटायर हैं। वे बेटी का शव लेने लंदन गए हुए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा- मैं फिलहाल लंदन में हूं। अपनी बेटी की अस्थियों को लेने आया हूं। चेइस्ता का जाना परिवार और उसके दोस्तों के लिए बहुत बड़ा नुकसान है।

[ad_2]

Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article