3.6 C
Munich
Saturday, February 24, 2024

प्रधानमंत्री संग्रहालय में खुलने जा रही मोदी गैलरी, जानें क्या कुछ होगा खास

Must read


Image Source : PTI
प्रधानमंत्री संग्रहालय में मोदी गैलरी।

देश के प्रसिद्ध प्रधानमंत्री संग्रहालय में बहुत जल्द ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल की प्रमुख उपलब्धियों को प्रदर्शित करने वाली ‘मोदी गैलरी’ शुरू होने वाली है। इस गैलरी के शुरू होने के बाद प्रधानमंत्री संग्रहालय के एक नए लेवल पर जाने की उम्मीद की जा रही है। इस गैलरी में पीएम मोदी के बड़े फैसले, देश की प्रगति के लिए उठाए गए उनके कदम आदि को दिखाया जाएगा। मोदी गैलरी के लिए कंटेंट का कार्य करने वाले गौतम चिंतामणि ने खुद इस गैलरी के बारे में खास बातें साझा की हैं। 

क्या कुछ है प्रधानमंत्री संग्रहालय में?

पीएम मोदी ने जब 2 साल पहले प्रधानमंत्री संग्रहालय का विजन देखा था तब विजन था कि  एक ऐसी जगह हो जहां पर भारत के हर प्रधानमंत्री का कार्यकाल दिखाया जाए उनके  बड़े फैसलों को दिखाया जाए। जो काम उन्होंने भारत के प्रगति के लिए हैं, जो कदम लिए हैं, उनके बारे में बात की जाए। ये प्रधानमंत्री संग्रहालय है किसी एक व्यक्ति बारे में या एक नेता के या एक पार्टी के बारे में नहीं है बल्कि देश के सभी पीएम पर आधारित है। 

क्या खास होगा मोदी गैलरी में?

गौतम चिंतामणि ने बताया है कि उन्होंने मोदी गैलरी के लिए कंटेंट का काम किया है।  कंटेंट कमेटी में एम.जे अकबर, प्रसून जोशी, प्रोफेसर कपिल कपूर, ए सूर्य प्रकाश जैसे लोग थे जिन्होंने गाइड किया। इस गैलरा में कहानी प्रधानमंत्री मोदी के कार्यकाल की है, उनके जीवन की है, उन्होंने पिछले 10 सालों में क्या अचीव किया है उस बात की है। उन्होंने बताया कि यह सिर्फ आर्थिक प्रगति या महान निर्णयों के बारे में नहीं है, यह 140 करोड़ लोगों पर मोदी जी के प्रभाव के बारे में है। जब 2014 में उन्होंने कार्यभार संभाला था उसे समय भारत फ्रेजाइल 5 में गिना जाता था। आज देश दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था के रूप में जाना जाता है।

पीएम की योजनाओं के बारे में जानकारी 

गौतम चिंतामणि ने बताया है कि मोदी गैलरी में कहानी सिर्फ प्रोग्रेस की नहीं है। कहानी उस आम आदमी के जिंदगी के बारे में है जिसका जीवन पीएम मोदी की योजनाओं के कारण बदला। इस गैलरी में उन योजनाओं के बारे में दिखाया जाएगा जिन्हें पीएम मोदी ने शुरू किया और मुकाम तक भी पहुंचाया। चिंतामणि ने उदाहरण देते हुए बताया कि पीएम मोदी की बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना का बड़ा असर हुआ है। 2013-14 में जहां लिंगानुपात 1000 पुरुषों पर 940 महिलाओं का था तो वहीं, अब ये 100 पुरुषों से 1020 महिलाओं तक पहुंच चुका है। 

ये भी पढ़ें- राहुल गांधी की ‘न्याय यात्रा’ का आज दूसरा दिन, नागालैंड में रात को रुकेंगे कांग्रेसी नेता

ये भी पढ़ें- मकर संक्रांति पर पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी ने दी बधाई, प्रियंका गांधी ने कही ये बात

Latest India News





Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article