3.7 C
Munich
Saturday, April 20, 2024

शरद के फोटो-नाम के इस्तेमाल पर SC में आज सुनवाई: अजित गुट जवाब देगा; कोर्ट ने कहा था- अब आप अलग पार्टी हैं, अपनी पहचान भी बनाएं

Must read

[ad_1]

नई दिल्ली43 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
ये फोटो 5 जुलाई 2023 का है। शरद पवार से अलग होने के बाद अजित पवार ने बांद्रा के भुजबल नॉलेज सिटी के MET सेंटर में बैठक की थी। यहां लगे पोस्टर में शरद पवार का फोटो लगा था। - Dainik Bhaskar

ये फोटो 5 जुलाई 2023 का है। शरद पवार से अलग होने के बाद अजित पवार ने बांद्रा के भुजबल नॉलेज सिटी के MET सेंटर में बैठक की थी। यहां लगे पोस्टर में शरद पवार का फोटो लगा था।

सुप्रीम कोर्ट में आज अजित गुट के खिलाफ याचिका पर सुनवाई होगी। कोर्ट शरद पवार गुट की ओर से दाखिल याचिका पर सुनवाई कर रहा है। जिसमें कहा गया है कि अजित गुट राजनीतिक फायदे के लिए शरद के नाम और तस्वीरों का इस्तेमाल कर रहा है।

इससे पहले 14 मार्च को महाराष्ट्र सरकार में डिप्टी CM अजित पवार गुट को कोर्ट ने फटकार लगाई थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था- अजित गुट लिखकर दें शरद का फोटो इस्तेमाल नहीं करेंगे। कोर्ट ने कहा- अब आप अलग पार्टी हैं, अपनी पहचान भी बनाएं।

जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस केवी विश्वनाथन की बेंच ने अजित पवार गुट से 18 मार्च तक अपना जवाब दाखिल करने को कहा था। बेंच ने अजित गुट से बिना शर्त लिखित गारंटी देने का आदेश दिया है कि वे शरद पवार की तस्वीर का इस्तेमाल नहीं करेंगे।

कोर्ट ने पूछा- आप प्रमोशन के लिए उनकी फोटो का इस्तेमाल क्यों करते हैं
14 मार्च को हुई सुनवाई के दौरान कोर्ट ने अजित गुट से कहा था- अब आप एक अलग पार्टी हैं। आपने शरद पवार के साथ नहीं रहने का फैसला किया है, तो आप प्रचार के लिए उनकी फोटो क्यों इस्तेमाल करते हैं? अब अपनी पहचान भी बनाएं। अदालत ने अजीत पवार समूह को चुनाव चिन्ह के रूप में किसी अन्य प्रतीक का उपयोग करने और नई विचारधारा के आधार पर चुनाव लड़ने का भी निर्देश दिया।

चुनाव आयोग ने अजित पवार गुट को नाम NCP और चुनाव चिह्न घड़ी आवंटित किया, जबकि शरद पवार के नेतृत्व वाले गुट को अब NCP (शरदचंद्र पवार) के नाम से जाना जाता है और उनके संगठन का चुनाव चिन्ह तुतारी (पारंपरिक तुरही) बजाता आदमी है।

चुनाव आयोग ने अजित पवार गुट को नाम NCP और चुनाव चिह्न घड़ी आवंटित किया, जबकि शरद पवार के नेतृत्व वाले गुट को अब NCP (शरदचंद्र पवार) के नाम से जाना जाता है और उनके संगठन का चुनाव चिन्ह तुतारी (पारंपरिक तुरही) बजाता आदमी है।

बारामती में बोले अजित- यशवंतराव चव्हाण का नाम और फोटो यूज कर रहे
सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर होने और कोर्ट की फटकार के बाद अजित पवार ने बारामती में मीडिया से बात करते हुए कहा था, कि महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी – शिवसेना सरकार के साथ गठबंधन करने के बाद उनकी पार्टी ने शरद पवार के नाम और तस्वीरों का इस्तेमाल किया था।

अजित ने यह भी कहा कि जब शरद पवार ने अपनी तस्वीर और नाम के इस्तेमाल पर आपत्ति जताई और कार्रवाई की चेतावनी दी, तो हमने ऐसा करना बंद कर दिया। अब हम यशवंतराव चव्हाण की तस्वीरों का इस्तेमाल कर रहे हैं और लोगों के पास जा रहे हैं।

अजित ने 5 जुलाई को कहा था- अब मैं NCP चीफ
अजित पवार 2 जुलाई 2023 को NCP के 8 विधायकों के साथ महाराष्ट्र की शिंदे सरकार ​में ​​​​​शामिल हो गए थे। उन्होंने अपने साथ NCP के 40 विधायकों के समर्थन का दावा किया था। गठबंधन सरकार में अजित को डिप्टी CM बनाया गया है।

इसके बाद अजित ने 5 जुलाई 2023 को शरद पवार को NCP राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाने का ऐलान किया था। उन्होंने खुद को नया राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित किया था। अजित का कहना था कि मुंबई में 30 जून 2023 को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में यह फैसला हुआ था।

ये खबर भी पढ़ें…

NCP शरदचंद्र पवार का सिंबल- तुरही बजाता आदमी

चुनाव आयोग ने नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी शरदचंद्र पवार को नया चुनाव चिह्न गुरुवार (22 फरवरी) को दे दिया। चुनाव आयोग ने पार्टी को तुरही बाजाता हुआ आदमी का सिंबल पार्टी को अलॉट किया है। पार्टी लोकसभा चुनाव में इसी सिंबल पर चुनाव में उतरेगी। शरद पवार ने इसका स्वागत करते हुए कहा- यह हमारे लिए गर्व की बात है। पढ़ें पूरी खबर…

[ad_2]

Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article