4.2 C
Munich
Friday, April 19, 2024

CM अरविंद केजरीवाल की आज कोर्ट में पेशी: शराब नीति मामले में ED ने गिरफ्तार किया, SC में अपील करेंगे

Must read

[ad_1]

नई दिल्ली22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

शराब नीति केस में दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल को 21 मार्च की शाम CM आवास से ED ने गिरफ्तार कर लिया। ED की टीम उन्हें 10वां समन देने आई थी। गिरफ्तारी के बाद केजरीवाल को ED दफ्तर ले जाया गया। RML अस्पताल से पहुंची डॉक्टरों की टीम ने उनका मेडिकल किया। केजरीवाल की रात ED की लॉकअप में कटी।

आज केजरीवाल को हाईकोर्ट में पेश किया जाएगा। पेशी से पहले भी दिल्ली CM का मेडिकल किया जा सकता है। ED केजरीवाल की रिमांड पाने के लिए के प्रयास करेगी। दिल्ली की मंत्री आतिशी ने कहा कि केजरीवाल दिल्ली के CM बने रहेंगे। जेल से सरकार चलाएंगे।

केजरीवाल की लीगल टीम ने सुप्रीम कोर्ट में अपील कर फौरन सुनवाई की मांग की। इसी मामले में पहले से ED की गिरफ्त में मौजूद BRS नेता के.कविता ने अपनी गिरफ्तारी को SC में चुनौती दी है। उनकी याचिका पर भी आज सुनवाई होनी है।

CM आवास से बाहर आकर अरविंद केजरीवाल गाड़ी में सवार हुए थे।

CM आवास से बाहर आकर अरविंद केजरीवाल गाड़ी में सवार हुए थे।

अरविंद केजरीवाल को ED दफ्तर ले जाया गया था।

अरविंद केजरीवाल को ED दफ्तर ले जाया गया था।

यूं चला केजरीवाल की गिरफ्तारी का घटनाक्रम
ED की टीम गुरुवार (21 मार्च) शाम 7 बजे केजरीवाल के घर 10वां समन और सर्च वारंट लेकर पहुंची थी। जांच एजेंसी ने दो घंटे तक पूछताछ के बाद रात 9 बजे उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

शराब नीति केस में कौन कब गिरफ्तार हुआ ?

मनीष सिसोदिया- दिल्ली शराब नीति केस में दिल्ली के डिप्टी CM मनीष सिसोदिया को ED ने 26 फरवरी 2022 को गिरफ्तार किया था। तभी से मनीष तिहाड़ जेल में बंद हैं।

संजय सिंह – AAP के राज्यसभा सांसद संजय सिंह 4 अक्टूबर 2023 को गिरफ्तार किया गया था। उनके घर पर ED की 10 घंटे तक चली छापेमारी के बाद गिरफ्तारी की गई थी। संजय ने गिरफ्तारी से पहले अपनी मां के पैर छुए और आशीर्वाद लिया था।

KCR की बेटी के.कविता भी ED की गिरफ्त में

15 मार्च को कविता को गिरफ्तार किया गया था। उन्हें फ्लाइट से हैदराबाद से दिल्ली लाया गया था।

15 मार्च को कविता को गिरफ्तार किया गया था। उन्हें फ्लाइट से हैदराबाद से दिल्ली लाया गया था।

15 मार्च की शाम KCR की बेटी BRS से एमएलसी के.कविता को ED मे हैदराबाद के उनके आवास से गिरफ्तार किया था। कविता ED की 7 दिन की रिमांड में हैं। उन्होंने अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ SC में याचिका दाखिल की है। आज उनकी याचिका पर सुनवाई होनी है।

ED का आरोप है कि दिल्ली शराब नीति में कविता, अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने साजिश रची। कविता ने दिल्ली CM और डिप्टी CM को 100 करोड़ रुपए दिए हैं।

केजरीवाल की गिरफ्तारी पर किसने क्या कहा

आतिशी मार्लेना- दो साल से जांच चल रही है। लेकिन एक पैसा भी न CBI को मिला, न ED को मिला। लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद अरविंद केजरीवाल को अरेस्ट कर लिया जाता है, क्योंकि मोदी जानते हैं कि उन्हें टक्कर देने वाला एक मात्र अरविंद केजरीवाल ही है। दो CM अरेस्ट किए गए। एक पार्टी के खाते सीज किए गए। ये भाजपा का डर दिखाता है।

गोपाल राय- ये संदेश है कि भाजपा के खिलाफ कोई बोलेगा तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। भाजपा ने आज लोकतंत्र की हत्या की है। ये दिल्ली के करोड़ों लोगों का अपमान है। इस देश के संविधान और लोकतंत्र का सम्मान करने वालों को अरेस्ट किया गया है। भाजपा अगर ये सोचती है कि अरविंद केजरीवाल को अरेस्ट करके वे आम आदमी पार्टी को खत्म कर देंगे। विपक्ष को डरा देंगे। तो ये उनकी गलत फहमी है। इसके खिलाफ देश में लड़ाई लड़ेंगे।

अखिलेश यादव – जो ख़ुद हैं शिकस्त के ख़ौफ़ में क़ैद ‘वो’ क्या करेंगे किसी और को क़ैद। भाजपा जानती है कि वो फिर दुबारा सत्ता में नहीं आनेवाली, इसी डर से वो चुनाव के समय, विपक्ष के नेताओं को किसी भी तरह से जनता से दूर करना चाहती है, गिरफ़्तारी तो बस बहाना है। ये गिरफ़्तारी एक नयी जन-क्रांति को जन्म देगी।

मल्लिकार्जुन खरगे- रोज़ जीत का झूठा दंभ भरने वाली अहंकारी भाजपा, विपक्ष को हर तरह से चुनाव के पहले ग़ैर क़ानूनी तरीक़े से कमज़ोर करने की कोशिश कर रही है। अगर सच में जीत का भरोसा होता तो संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग करके मुख्य विपक्षी दल – कांग्रेस पार्टी का Accounts Freeze नहीं किया जाता । विपक्षी पार्टियों के नेताओं को ठीक चुनाव से पहले निशाना नहीं बनाया जाता। सच यह है की भाजपा आने वाले चुनाव परिणाम से पहले ही डर गई है और बौखलाहट में विपक्ष के लिए हर तरह की मुश्किलें पैदा कर रही है। वक्त है बदलाव का ! अबकी बार …सत्ता के बाहर !!

राहुल गांधी – डरा हुआ तानाशाह, एक मरा हुआ लोकतंत्र बनाना चाहता है। मीडिया समेत सभी संस्थाओं पर कब्ज़ा, पार्टियों को तोड़ना, कंपनियों से हफ्ता वसूली, मुख्य विपक्षी दल का अकाउंट फ्रीज करना भी ‘आसुरी शक्ति’ के लिए कम था, तो अब चुने हुए मुख्यमंत्रियों की गिरफ्तारी भी आम बात हो गई है। INDIA इसका मुंहतोड़ जवाब देगा।

प्रियंका गांधी – चुनाव के चलते दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल को इस तरह टारगेट करना एकदम गलत और असंवैधानिक है। राजनीति का स्तर इस तरह से गिराना न प्रधानमंत्री जी को शोभा देता है, न उनकी सरकार को। अपने आलोचकों से चुनावी रणभूमि में उतरकर लड़िये, उनका डटकर मुक़ाबला करिए, उनकी नीतियों और कार्यशैली पर बेशक हमला करिए – यही लोकतंत्र होता है। मगर इस तरह देश की सारी संस्थाओं की ताकत का अपने राजनीतिक मकसद को पूरा करने के लिए इस्तेमाल करना, दबाव डालकर उन्हें कमज़ोर करना लोकतंत्र के हर उसूल के खिलाफ है। देश के विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस के बैंक खाते फ्रीज कर दिये गए हैं, तमाम राजनीतिक दलों और उनके नेताओं पर ED, CBI, IT का दिन रात दबाव है, एक मुख्यमंत्री जेल में डलवा दिये गये हैं, अब दूसरे मुख्यमंत्री को भी जेल ले जाने की तैयारी हो रही है। ऐसा शर्मनाक दृश्य भारत के स्वतंत्र इतिहास में पहली बार देखने को मिल रहा है।

यह खबर भी पढ़ें…
भास्कर एक्सप्लेनर- क्या जेल से सरकार चला सकते हैं केजरीवाल: गिरफ्तारी से पहले अब तक सभी सीएम ने इस्तीफा दिया; क्या हैं नियम

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गिरफ्तार हो गए हैं। गुरुवार शाम 7 बजे प्रवर्तन निदेशालय ने केजरीवाल को 10वां समन दिया। घर की तलाशी ली और फिर गिरफ्तार कर लिया। इस बीच दिल्ली की मंत्री आतिशी ने कहा कि केजरीवाल दिल्ली के सीएम बने रहेंगे। जेल से सरकार चलाएंगे। पूरी खबर पढ़ें

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article