10 C
Munich
Tuesday, April 16, 2024

मोदी के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की एक और शिकायत: TMC का आरोप- PM की ओर से भेजे गए मैसेज में भाजपा का प्रचार हुआ

Must read


  • Hindi News
  • National
  • PM Narendra Modi WhatsApp Message; TMC Derek O’Brien | BJP Election Campaign

5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

तृणमूल कांग्रेस की ओर से पीएम मोदी के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन की 2 शिकायतें दर्ज की गई हैं।

TMC की ओर से चुनाव आयोग में 24 घंटे में पीएम मोदी के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की 2 शिकायतें भेजी जा चुकी हैं। सोमवार (18 मार्च) को TMC नेता डेरेक ओब्रायन ने चुनाव आयोग को कंप्लेंट लेटर में कहा- कि मोदी की ओर से 15 मार्च को भेजे गए विकसित भारत संकल्प यात्रा के सरकारी अभियान का वॉट्सऐप मैसेज भेजा गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, डेरेक ओब्रायन ने दावा किया कि मैसेज के के साथ पीएम की ओर से लेटर भी लिखा गया था। इसमें पिछले 10 साल में देश के 140 करोड़ से अधिक लोगों को भारत सरकार की योजनाओं से लाभ हुआ। डेरेक ने कहा कि इससे साफ है कि भारत सरकार मोदी की ओर से मैसेज भेज रही है।

इससे पता चलता है कि मोदी-भाजपा केंद्र सरकार के राजस्व के जरिए अपनी योजनाओं का प्रचार कर रही है। वॉट्सऐप पर यह मैसेज 15 मार्च को लागू हुई आचार संहिता के बाद भेजा गया। इसलिए यह आचार संहिता का उल्लंघन माना जाना चाहिए। इससे पहले सोमवार को ही TMC सांसद साकेत गोखले ने भी शिकायत की थी।

यह वही मैसेज है जो 15 मार्च को आचार संहिला लागू होने के बाद भेजा गया था।

यह वही मैसेज है जो 15 मार्च को आचार संहिला लागू होने के बाद भेजा गया था।

डेरेक बोले- लोकसभा चुनाव को सुप्रीम कोर्ट मॉनिटर करे
TMC के राज्यसभा सांसद डेरेक ने सोमवार (18 मार्च) को कहा कि हमारी पार्टी चाहती है कि लोकसभा चुनाव को सुप्रीम कोर्ट मॉनिटर करे। भाजपा की गंदी चालें भारत के चुनाव आयोग जैसी संस्थाओं को खत्म कर रही हैं। क्या भाजपा लोगों का सामना करने से इतनी घबरा गई है कि वह विपक्ष को निशाना बनाने के लिए ECI को पार्टी ऑफिस में बदल रही है।

साकेत गोखले ने भी की थी शिकायत
इससे पहले सोमवार को ही TMC सांसद साकेत गोखले ने भी पीएम मोदी के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि आंध्रप्रदेश के पलनाडु में लोकसभा सीट चिलकलुरिपेट में चुनावी रैली में भाग लेने के लिए वायुसेना के हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार 17 मार्च को पलनाडु जिले के बोपुडी गांव में NDA की चुनावी सभा को संबोधित करने गए थे। रैली से सामने आए वीडियो में वे वायुसेना के हेलिकॉप्टर से उतरते नजर आए थे।

TMC सांसद साकेत ने आंध्रप्रदेश चुनाव आयोग को दी शिकायत की कॉपी सोशल मीडिया X पर भी शेयर की है। उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव आयोग ने 16 मार्च को चुनाव की तारीखों का ऐलान करते समय यह चेतावनी दी थी कि आचार संहिता के उल्लंघन से सख्ती से निपटा जाएगा।

साकेत गोखले की ECI आंध्रप्रदेश को दी गई शिकायत की कॉपी।

साकेत गोखले की ECI आंध्रप्रदेश को दी गई शिकायत की कॉपी।

TMC सांसद गोखले ने बताया कि उन्होंने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करवाई है, न कि सुप्रीम कोर्ट में। क्योंकि जब चुनाव चल रहे हों और आचार संहिता लागू हो तो अदालतों को चुनावी मामलों में हस्तक्षेप करने की परमिशन नहीं है। इसलिए पीएम मोदी पर चुनाव आयोग को ही कार्रवाई करनी चाहिए।

सोशल मीडिया यूजर बोले- SPG सिक्योरिटी वाले नेता यूज कर सकते हैं
एक यूजर ने चुनाव आयोग के 2014 के नोटिफिकेशन का हवाला देते हुए कहा कि SPG सिक्योरिटी वाले लोग सरकारी वाहनों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस पर गोखले ने रिप्लाई किया कि यह मामला केवल बुलेटप्रूफ और एस्कॉर्ट व्हीकल जैसे जैमर कारों के लिए है। सुरक्षा कारणों के चलते IAF हेलिकॉप्टरों का इस्तेमाल इसके तहत नहीं आता।

पीएम मोदी ने पिछले दिनों कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्रप्रदेश में चुनावी सभाएं की हैं।

पीएम मोदी ने पिछले दिनों कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्रप्रदेश में चुनावी सभाएं की हैं।

चुनाव में सरकारी मशीनरी के इस्तेमाल ने ही इंदिरा को अयोग्य बनाया था
आचार संहिता के नियम चुनाव प्रचार के लिए सरकारी मशीनरी के इस्तेमाल पर रोक लगाते हैं। 1975 में इंदिरा गांधी को विशेष रूप से इसी कारण से अयोग्य घोषित कर दिया गया था। सांसद गोखले ने कहा कि यदि भाजपा ने भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टर को किराए पर लेने के लिए भुगतान किया है तो चुनाव आयोग को हम सभी को यह बताना चाहिए कि भारतीय वायुसेना का हेलिकॉप्टर ही क्यों चुना गया।

यह खबर भी पढ़ें…

चुनाव आयोग ने 6 राज्यों के गृह सचिव हटाए

चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की घोषणा के दो दिन बाद सोमवार को पश्चिम बंगाल के DGP समेत 7 राज्यों के गृह सचिव को हटा दिया। 6 राज्यों के गृह सचिवों में गुजरात, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के अफसरों का नाम शामिल है। विवेक सहाय को पश्चिम बंगाल का नया DGP बनाया गया है। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…



Source link

- Advertisement -spot_img

More articles

- Advertisement -spot_img

Latest article