केरल में गर्भवती हथिनी की हत्या पर बोले पर्यावरण मंत्री जावड़ेकर- दोषी को दी जाएगी कड़ी से कड़ी सजा

138
केरल में गर्भवती हथिनी की हत्या पर बोले पर्यावरण मंत्री जावड़ेकर- दोषी को दी जाएगी कड़ी से कड़ी सजा
केरल में गर्भवती हथिनी की हत्या पर बोले पर्यावरण मंत्री जावड़ेकर- दोषी को दी जाएगी कड़ी से कड़ी सजा

मलप्पुरम/नई दिल्ली न्यूज़ : केरल के मलप्पुरम में गर्भवती हथिनी की हत्या पर केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इस घटना पर गहरी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि हथिनी के हत्यारों को पकड़ने के लिए सरकार कोई कसर नहीं छोड़गी। पटाखे खिलाकर जानवर को मार देना भारतीय संस्कृति नहीं है। जावड़ेकर ने ट्वीट कर कहा कि केंद्र सरकार ने केरल के मल्लपुरम में इस हथिनी की मृत्यु पर घटना को गंभीरता से लिया है और उसने इसकी जांच कराकर हत्यारे को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि यह भारतीय संस्कृति नहीं है कि पटाखों से किसी जानवर को मार दिया जाए। इस हथिनी की मौत की जांच का निर्णय केरल सरकार ने लिया है और कल से अब तक सोशल मीडिया पर इस घटना की काफी निंदा हुई है और लोगों ने इसके दोषी लोगों को तत्काल गिरफ्तार करने और कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की है। हथिनी की दुखद मौत का मामला तब सामने आया जब वन अधिकारी मोहन कृष्णन ने अपने फेसबुक पेज पर एक भावनात्मक पोस्ट लिखा। उन्होंने पोस्ट में लिखा, पटाखा हथिनी के मुंह में फूट गया और वह बुरी तरह जख्मी हो गई। इसके बावजूद भी उसने गांव में किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया। वह बेहद सीधी थी। फॉरेस्ट ऑफिसर ने आगे लिखा, वह इतनी बुरी तरह जख्मी हो गई थी कि कुछ खा भी नहीं पा रही थी। खाने की तलाश में वह वेल्लियार नदी तक पहुंची और नदी में मुंह डालकर खड़ी हो गई। शायद पानी में मुंह डालने से उसे आराम मिला हो। हाथी को सिर तक नदी में खड़ा देखकर कृष्णन नाम की महिला समझ गई थी कि वह मर गई है। इसके बाद लोगों को मामले की जानकारी हुई।

Previous articleउत्तराखंड में कोरोना वायरस का कहर, प्रदेश में 68 मरीज मिलने से संक्रमितों की संख्या हुए 1,153
Next articleगुजरात: केमिकल कंपनी में ब्लॉस्ट के बाद लगी आग, 9 की मौत, 50 से ज्यादा झुलसे