IPL के इतिहास में 200 छक्के जड़ने वाले पहले भारतीय बने धौनी

0
217

बेंगलुरु

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ एक रन से हार का सामना करना पड़ा। चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने मैच में 48 गेंद पर 84 रनों की पारी खेली, लेकिन टीम को जीत तक नहीं पहुंचा सके। धौनी ने अपनी इस पारी के दौरान पांच चौके और सात छक्के जड़े। इस दौरान धौनी ने इंडियन प्रीमियर लीग में छक्कों की डबल सेंचुरी जड़ डाली। आईपीएल के इतिहास में 200 या इससे ज्यादा छक्के जड़ने वाले धौनी पहले भारतीय क्रिकेटर बन गए हैं। धौनी से पहले क्रिस गेल और एबी डिविलियर्स यह कारनामा कर चुके हैं।

धौनी के खाते में अब 203 आईपीएल छक्के हो चुके हैं। वहीं क्रिस गेल 323 और एबी डिविलियर्स 204 छक्के जड़ चुके हैं। वहीं आईपीएल में चौथी बार ऐसा हुआ है जब धौनी नॉटआउट लौटे हों और उनकी टीम को हार झेलनी पड़ी हो। इससे पहले 2013 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ उन्होंने 45 गेंद पर 63 रनों की नॉटआउट पारी खेली थी, तब भी टीम हार गई थी। फिर 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ धौनी ने 31 गेंद पर नॉटआउट 42 रन बनाए थे और टीम हारी थी। 2018 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ ही धौनी ने 44 गेंद पर नॉटआउट 79 रन बनाए थे और उनकी टीम हार गई थी। यह चौथा मौका है, जब धौनी नॉटआउट रहकर भी टीम को जीत नहीं दिला सके।

किंग्स इलेवन पंजाब ने आईपीएल इतिहास में दूसरी बार एक रन से जीत दर्ज की है। इससे पहले 2016 में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ एक रन से जीत दर्ज की थी। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को चेन्नई सुपर किंग्स ने पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया था। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट पर 161 रन बनाए। जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम 20 ओवर में आठ विकेट पर 160 रन ही बना सकी।

Previous articleतीसरे चरण में 14 राज्यों की 115 सीटों पर चुनाव होंगे
Next articleउत्तराखंड: बागेश्वर में महसूस हुए 3.5 मैग्नीट्यूड भूकंप के झटके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here