भाजपा ने खेला तीसरी सीट पर दांव, कांग्रेस गोहिल व सोलंकी की प्राथमिकता में उलझी

0
143
भाजपा ने खेला तीसरी सीट पर दांव कांग्रेस गोहिल व सोलंकी की प्राथमिकता में उलझी
भाजपा ने खेला तीसरी सीट पर दांव कांग्रेस गोहिल व सोलंकी की प्राथमिकता में उलझी

अहमदाबाद

भारतीय जनता पार्टी ने गुजरात के पूर्व उपमुख्‍यमंत्री व गुजरात योजना आयोग के उपाध्‍यक्ष नरहरी अमीन को अपने तीसरे उम्‍मीदवार के रुप में घोषित कर एक बडा दांव खेला है, कांग्रेस अब अपने दो प्रत्‍याशियों में प्राथमिकता को लेकर फंस सकती है। कांग्रेस की एक व भाजपा की दो सीट के लिए मतदान के बाद अतिरिक्‍त मतों की संख्‍या 36 व 29 है। भाजपा को 8 अन्‍य मतों की दरकार होगी। गुजरात से राज्‍यसभा की चार सीट के लिए भाजपा ने अभय भारद्वाज व रमीला बारा के नाम तथा कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री भरतसिंह सोलंकी तथा बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्तिसिंह गोहिल को अपना प्रत्‍याशी घोषित किया था लेकिन देर रात भाजपा ने अपने तीसरे उम्‍मीदवार के रूप में राज्‍य के पूर्व उपमुख्‍यमंत्री व पाटीदार समाज के दिग्‍गज नेता नरहरी अमीन को अपना तीसरा उम्‍मीदवार घोषित कर दिया जिसके चलते अब चारों सीट के लिए चुनाव अनिवार्य हो गया है।

राज्‍यसभा की चारों सीट के लिए 26 मार्च को मतदान होगा। विधानसभा में भाजपा के सदस्‍यों की संख्‍या जहां 103 है वहीं कांग्रेस के पास 73 सदस्‍यों का संख्‍या बल है। चार उम्‍मीदवार होने पर भाजपा व कांग्रेस दोनों के दो दो उम्‍मीदवार चुनाव जीत सकते थे लेकिन अब पांचवें उम्‍मीदवार के मैदान में आ जाने से मुकाबला रोचक बन गया तथा कांग्रेस की एक सीट संख्‍या बल के गणित में फंस सकती है।

अब कांग्रेस की दुविधा यह होगी कि अपने पहले प्रत्‍याशी के रूप में वह सोलंकी को रखती है या गोहिल को। कांग्रेस को पाटीदार उम्‍मीदवार विधायकों के क्रॉस वोटिंग का डर भी सता रहा है। गौरतलब है कि अमीन वर्ष 2012 तक कांग्रेस के दिग्‍गज नेता थे लेकिन विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने के चलते उन्‍होंने कांग्रेस से  किनारा कर भाजपा में शामिल हो गए थे अब एक बार फिर भाजपा ने कांग्रेस को राज्‍यसभा चुनाव की गणित में फंसाते हुए अपने तीसरे उम्‍मीदवार को मेदान में लाकर अपनी तीसरी सीट पर भी दावेदारी जता दी है। खाली हुई सीट में भाजपा की 3 व कांग्रेस की 1 सीट है अब भाजपा अपनी तीनों सीट बरकरार रखने पर अडी है। उधर नरहरी अमीन का कहना है कि कांग्रेस के पाटीदार विधायकों सहित कांग्रेस के कई विधायक उनके समर्थन में मतदान करेंगे। उनको भरोसा है कि वर्षों पुराने कांग्रेस नेताओं से रिश्‍ते इस चुनाव में उनकी मदद करेंगे और भाजपा के लिए राज्‍यसभा की तीसरी सीट भी वे जीतने में कामयाब होंगे।

Previous articleकनाडा के PM की पत्नी सोफी को कोरोना वायरस कन्फर्म
Next articleमुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में कोरोना के 20 संदिग्ध भर्ती

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here